Thursday, May 18, 2017




ज़ि‍न्दगी, समाज, सोच और शब्दों की तरह आवाज़ों का भी अपना इतिहास होता है, पुराना संगीत या पुराने गीत सुनकर इस बात को एक हद तक समझा जा सकता है।

No comments:

Post a Comment